बुन्देलखण्ड सूखा मुक्ति चेतना यात्रा दिनांक 26 मई से 04 जून 2018

  • Yatra

बुन्देलखण्ड सूखा मुक्ति चेतना यात्रा दिनांक 26 मई से 04 जून 2018 Event Date: 26-05-2018

आज दिनांक 26 मई 2018 को बुन्देलखण्ड सूखा मुक्ति चेतना यात्रा का शुभारम्भ सूरज कुंज चित्रकूट से किया गया सूरजकुंज चित्रकूट धाम में मन्दाकिनी नदी के किनारे स्थित है इस कुण्ड का अपना धार्मिक एवं पौराणिक महत्व है बुन्देलखण्ड के बरिष्ठ सामाजिक कार्यकर्ता एवं जल विरादरी के को-टीम के सदस्य अभिमन्यु भाई के नेतृत्व में यात्रा का शुभारम्भ हुआ इस अवसर पर बुन्देलखण्ड जल मंच के संयोजक अमित त्रिपाठी एवं परमार्थ के समन्वयक सिद्धगोपाल की विशेष

 

उपस्थिति रही इस अवसर पर क्षेत्रीय ग्रामीण जन व पर्यायवरण प्रेमी उपस्थित रहे सभा को संबोधित करते हुए अभिमन्यु भाई ने कहा कि मन्दाकिनी नदी को पुनः जीवित करने लिए हर सम्भव प्रयास किये जाये साथ ही साथ यह भी प्रयास किया जाएगा कि समाज के सभी वर्गो के लोग अपनी भागीदारी सुनिश्चित करते हुए श्रमदान करें बिना सामुहिक प्रयास के यह नदी पुर्नजीवित नही होगी अमित त्रिपाठी ने कहा कि चित्रकूट में हर अमावस्या को लाखों लोग एकत्रित होते है सभी अस्था के केन्द्र मन्दागिनी है मन्दागिनी की सहायक नदी पेश्वनी भी सूख गई है इनको बचाने के लिए चित्रकूट के संत समाज, स्थानीय लोगों को मिलकर तत्काल प्रयास करने की आवश्यकता है। परमार्थ के सिद्धगोपाल ने कहा कि यात्रा का उद्देश्य सूखे से उत्पन्न हालातों को जानना एवं समाज को सूखा मुक्ति के लिए खड़ा करना 

 

यह यात्रा चित्रकूट से शुरू होकर बुन्देलखण्ड के सभी सातो जिलों में जाएगी यात्रा का समापन विश्व पर्यायवरण दिवस के अवसर पर 5 जून को झांसी में होगा यात्रा का दूसरा पड़ाव ग्राम मकरी में हुआ, जहां बैठक का आयोजन किया गया बैठक में गांव के प्रधान ने कहा कि पुराने जल स्त्रोतो का पुनः उद्धार कराया जाएगा, जिसके लिए प्रशासन को प्रस्ताव भेजें जाएगें, और स्वंय के प्रयास किये जाएगे बैठक में गांव के लोगों ने निरन्तर श्रमदान करने का संकल्प लिया है